नववर्ष पर हजारों श्रद्धालुओं ने धार्मिक स्थलों पर हाजिरी लगाई

02 Jan 2017 10:31:12


जम्मू ,

लोगों ने विभिन्न धार्मिक स्थलों पर शीश झुकाकर नववर्ष की शुरुआत की। श्रद्धालुओं ने माथा टेक अपने परिवार की सुख-समृद्धि की कामना भगवान से की।

जिला मुख्यालय से करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर उज्ज दरिया के किनारे जखोल स्थित लोगों की असीम आस्था का प्रतीक प्राचीन प्राकृतिक भगवान शंकर की महानाल गुफा में नववर्ष के पहले दिन श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी हजारों की संख्या में श्रद्धालु महानाल गुफा में विराजमान अपने आराध्य भगवान शंकर के दर्शन के लिए पहुंचे।

राज्य के उपमुख्यमंत्री डॉ. निर्मल सिंह के अलावा उनकी पत्नी ममता सिंह सहित दूरदराज से आए हजारों लोगों ने भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त किया। इस अवसर पर लोगों ने भगवान शंकर की पूजा-अर्चना के साथ महानाल शिवगुफा के पूर्व महंत स्वर्गीय हरी गिरि जी महाराज की समाधि पर भी माथा टेका। गुफा परिसर में विराजमान भगवान शिव की आपशंभू पिंडी पर जलधारा कर पूजा-अर्चना की।

भगवान शंकर का दर्शन करने के लिए सुबह पहले पहर से ही श्रद्धालुओं की कतारें लगनी शुरू हो गई थीं, जो दिनभर जारी रही। श्रद्धालु बम बम भोले का जयघोष करते हुए गुफा की ओर बढ़ रहे थे और दर्शनों के बाद दूसरी कतार से वापस लौट रहे थे।

महानाल गुफा का प्रबंधन कर रही सनातन धर्म सभा शिवगुफा महानाल के चेयरमैन दिवान सिंह ने कहा कि पहली जनवरी को नए वर्ष व पूर्व महंत स्वर्गीय हरी गिरि जी महाराज की पुण्यतिथि पर सभा द्वारा हर वर्ष धार्मिक समारोह का आयोजन किया जाता है।

उन्होंने कहा कि लोग महानाल गुफा में असीम आस्था रखते हैं और हर वर्ष पहली जनवरी व शिवरात्रि पर्व पर विशेष दर्शनों के लिए गुफा में पहुंचते हैं। इस अवसर पर विशाल भंडारे का आयोजन भी किया गया।

उधर, राजबाग जसरोटा स्थित महाकाली मंदिर में भी श्रद्धालुओं की काफी भीड़ रही। हजारों श्रद्धालुओं ने मंदिर में विराजमान महाकाली माता के दर्शन कर अपने नए वर्ष की शुरुआत की।

 

 

साभार: दैनिक जागरण 

 

JKN Twitter