घाटी में आतंक तोड़ रहा है दम

22 Nov 2017 18:25:43


 

आशुतोष मिश्रा

 

जम्मू एवं कश्मीर का बांदीपोरा जिला और नवम्बर का महीना कश्मीर घाटी में पाकिस्तानी समर्थित आतंकियों के लिए कयामत  साबित हो रहा है

नवम्बर के महीने में भारतीय सुरक्षा बलों ने अब तक 26 से ज्यादा आतंकवादियों को उनके सही ठिकाने तक पंहुचा दिया है। पिछले कई सालों में यह संख्या सब से बड़ी संख्या रही है।  जहाँ सेना द्वारा कश्मीर में जारी ऑपरेशन ऑलआऊट  में 190 से ज़्यादा आतंकी मारे गए हैं। इनमें से 80 स्थानीय हैं, जबकि 110 विदेशी आतंकियों में से 66 एलओसी पर घुसपैठ की कोशिश करते हुए मारे गए हैं। 

शनिवार 18 को बांदीपुरा के हाजिन में मुंबई आतंकी हमले के आरोपी जकीरउर रहमान लखवी के भांजे सहित  6 आतंकियों को मुठभेड़ के दौरान सेना ने ढेर कर  सेना ने लश्कर-ए-तैयबा के शीर्ष नेतृत्व का सफाया कर दिया है।  इस पूरे साल में पाकिस्तान से ताल्लुक  रखने वाले लश्कर-ए-तैयबा के 57, हिजबुल मुजाहिद्दीन के 43 आतंकवादी और जैश-ए-मोहम्मद के 15 आतंकवादी ढेर किए जा चुके हैं। 

 

इस महीने के पहले 22  दिनों में  देश की रक्षा करते हुए   सेना के 5 सैनिकों, 2 पुलिसकर्मी और भारतीय वायु सेना के कमांडो ने राष्ट्र के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दियाहै।  वही दूसरी तरफ घाटी में पहली बार हुई भाजपा की  मीटिंग में कई सारी जिम्मेदारी उठाने वाले शोपियां भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष गौहर भट  को भी आतंकियों ने मौत के घाट उतार दिया है। गौहर भट्ट की शहादत इस बात का इशारा है कि पाकिस्तानी आतंक बुरी तरह से परेशान है  दूसरी तरफ श्रीनगर शहर के जकुरा इलाके में पुलिस थाना राजपुरा के बाहर एक पुलिस दल पर हमला कर के उप-निरीक्षक मुहम्मद इमरान सिपाही अब्दुल सलाम को भी आतंकियों ने मार डाला है।

 

इन  घटनाओं ने  तय कर दी है की घाटी में बहुत ज्यादा दिनों तक अब पाकिस्तान आतंकी की खेती नहीं कर सकेगा।  और जल्द ही घाटी का युवा  देश भर के युवाओ के साथ  कदम से कदम मिलने के लिए उठ खड़ा होगा और देश को और प्रगति के रास्ते पर और आगे लिए काम करेगा।  

 

JKN Twitter