परवेज़ मुशर्रफ ने कहा की लश्कर हमेशा से कश्मीर के पक्ष में रहा है

30 Nov 2017 17:29:44


आशुतोष मिश्रा


कुछ ही दिन पहले लश्कर आतंकी हाफिज सईद के रिहा होने के बाद से ही पाकिस्तान का असली चेहरा दुनिया के सामने आ गया था। लेकिन इस बार तो खुद उसके पूर्व राष्ट्रपति और सेनाध्यक्ष परवेज़ मुशर्रफ ने कश्मीर 
(जोकि राज्य का सबसे छोटा क्षेत्र है ) में फैले आतंकवाद में लश्कर-ए-तैयबा (LeT) की मौजूदगी की बात मान कर उसका असली चेहरा पूरी दुनिए के सामने बेनकाब कर दिया है। परवेज़ मुशर्रफ ने मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और लश्कर  प्रमुख हाफ़िज़ सईद के साथ अपने संबंधो की बात भी स्वीकारी है।

एक पाकिस्तानी न्यूज़ चैनल ARY टीवी को दिए गए अपने इंटरव्यू में पूर्व राष्ट्रपति ने कहा की, 'मैं लश्कर का बड़ा समर्थक हूं और जानता हूं कि वो मुझे पसंद करते हैं। इसके साथ ही साथ जमात-उद-दावा के साथ भी मेरे मधुर सम्बन्ध थे और आगे भी इस तरह के ही सम्बन्ध रहेगे।' मै हाफिज़ सईद को दिल से पसंद करता हू और आगे भी उसी तरह से पसंद करता रहूगा। आगे और कई सच क़बूल करते हुए उन्होंने कहा, 'मैं उससे (हाफिज़ सईद) दो बार मिल चुका हूं और आगे मौके मिले तो और कई बार मिलना भी चाहूगा।'

अपने इंटरव्यू में बोलते हुये परवेज़ मुशर्रफ ने कहा की लश्कर हमेशा से कश्मीर के पक्ष में रहा है और कश्मीर में भारतीय सेना पर पर दबाव बनाने में पाकिस्तानी सेना को मदद करता रहा है, जो लश्कर की बड़ी ताकत है। मुशर्रफ ने कहा की, 'भारत ने अमेरिका के साथ मिलकर इसे आंतकवादी संगठन घोषित किया है। लेकिन लश्कर केवल कश्मीर में सक्रिय हैं और कश्मीर में भारत और पाकिस्तान के बीच का मामला हैं।'

 

याद रहे मुशर्रफ ने इसी साल अगस्त के महीने में दिए अपने एक बयान माना था की, 1993 मुंबई बम धमाकों का मुख्य आरोपी पाकिस्तान के कराची में छिपा है।  दाउद एक अंडरवर्ल्ड डॉन है। जिसका नाम भारत सरकार ने अपनी मुख्य आतंकवादी लिस्ट में रखा है। और इसकी गिरफ्तारी के लिए भारत सरकार कई वर्षो से हरसंभव कोशिश कर रही है। टीवी इंटरव्यू के दौरान मुशर्रफ ने कहा, 'भारत लंबे समय से पाकिस्तान पर आरोप लगा रहा है। हम क्यों अब अच्छे बनकर भारत की मदद करें?'

 

सुरक्षा बलों ने फिर पकड़ा जिन्दा पाकिस्तानी सबूत

राज्य उत्तरी कश्मीर के कुफवाड़ा जिले में हंदवाड़ा से सुरक्षा बलों ने एक बार फिर से पाकिस्तानी मूल के लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकी को जिन्दापकड़ा है। सेना को सघन तलाशी अभियान के दौरान मोहम्मद आमिर अवान नामक आतंकी को गिरफ्तार कर लिया था। प्रारंभिक जांच के बाद इस मामले को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के हवाले कर दिया गया हैजिसके बाद NIA ने प्राथमिकी दर्ज कर आतंकी को अपनी हिरासत में ले लिया। सूत्रों ने बताया है की उसने अधिकारियों को प्रारंभिक पूछताछ में आतंकी ने अपना नाम मोहम्मद आमिर अवान बताया। जिसे लश्कर के आतंकी संघटन में कोड वर्ड नाम'अबू हामजहै। आतंकी ने पूछताछ करने वाले अधिकारियों को बताया कि वह पाकिस्तान के कराची के बरदिया शहर का रहने वाला है। उसने बताया कि लश्कर में उसकी भर्ती की गयी और सीमा पार पाक अधिक्रांत जम्मू-कश्मीर में उसकी ट्रेनिग करवाई गयी है।

JKN Twitter