सुरक्षा बलों की बड़ी कामयाबी : पुलवामा में इनामी लश्कर कमांडर को मार गिराया

02 Aug 2017 10:49:15

 


सेना के मोस्ट वांटेड आतंकियों में से एक लश्कर के A प्लस कैटेगरी के आतंकी अबु दुजाना को सुरक्षा बलों ने पुलवामा में मार गिराया। अब दुजाना एक खूंखार और 15 लाख का इनामी आतंकी था। अबु दुजाना की मौत को सुरक्षा बलों और ख़ुफ़िया एजेंसियों की बड़ी कामयाबी के तौर पर देखा जा रहा है। आज से पहले भी अबु दुजाना को मारने के लिए ऑपरेशन चलाये गए थे लेकिन पिछले 5 बार से वो सुरक्षा बलों को चकमा देने में कामयाब रहा लेकिन इस बार जवानों ने उसे ऐसा घेरा की भागना उसके लिए नामुमकिन हो गया। अबु दुजाना मूल रूप से पाकिस्तान का नागरिक था जो जम्मू कश्मीर में लश्कर का कमांडर था।

 

पिछले एनकाउंटर के दौरान उसका फ़ोन जवानों के हाथ लगा था जिसके बाद ख़ुफ़िया एजेंसियों ने उसके हर गतिविधियों पर कड़ी नज़र रखी थी। ख़ुफ़िया जाँच में पता चला कि पुलवामा जिले के हकड़ीपोरा गाँव में वह अपनी पत्नी से मिलने आते रहता था, ऐसे में उस पर निगरानी रखने से उसके आने की जैसे ही सूचना मिली, सुरक्षा बलों के जवान सादे कपड़ों में उस घर घेर के खड़े हो गए जिसमें अबु दुजाना था। सेना की 182, 183 बटालियन,  55 राष्ट्रीय राइफल्स और सीआरपीएफ के सहयोग से जम्मू कश्मीर पुलिस ने सर्च ऑपरेशन चलाया और अंत में इमारत से किसी के बाहर नहीं आने पर उसे विस्पोट कर उड़ा दिया गया जिसमें आतंकी अबु दुजाना के साथ अन्य दो आतंकी भी मारे गए हैं।

 

लश्कर कमांडर अबु दुजाना पिछले 5 वर्षों से दक्षिणी कश्मीर में सक्रिय था और घाटी में अस्थिरता के माहौल को बढ़ाने की लगातार कोशिश कर रहा था। कुछ दिनों पूर्व ही अलकायदा के जम्मू कश्मीर के मुखिया अलगाववादी जाकिर मूसा से जुड़ने की बातें भी सामने आई थी। पिछले साल हुए पंपोर हमले का मास्टर माइंड भी अबु दुजाना ही था जिसमें सेना के 8 जवान शहीद हुए थे। साथ ही अबु दुजाना की गन्दी नियत के चलते आस पास की लड़कियां भी सुरक्षित नहीं थी। इस वर्ष सेना ने 100 से अधिक आतंकियों को मारकर सभी आतंकियों और अलगाववादियों के मन में छटपटाहट पैदा कर दी है। अबु दुजाना के मौत के बाद भी सुरक्षा बलों का सर्च ऑपरेशन जारी रहेगा।

 

 

JKN Twitter