फिलिस्तीन के बहाने पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में फिर उठाया कश्मीर का मुद्दा

29 Jan 2018 14:46:52

 


आशुतोष मिश्रा

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने दावोस में चल रहे विश्व आर्थिक सम्मेलन में कश्मीर का मुद्दा उठाने प्रयास विफल होने के बाद पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में फिर से भी दोहराई अपनी गलती।

सुरक्षा परिषद् द्वारा मध्य पूर्व देशों के हालात पर चर्चा के लिए बुलाई गई बैठक में एक बार फिर पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने फिलिस्तीन के बहाने कश्मीर मसले को उठा डाला।

फिलिस्तीन के बहाने मलीहा लोधी ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर की तरह ही फलीस्तीनियों की इच्छा की कद्र करता है जिसकी जमीन पर दूसरे देश का कब्जा है। फिलिस्तीन की धरती पर जो कब्ज़ा है उसे ख़त्म करवाना चाहिये। मलीहा संयुक्त राष्ट्र संघ को कहा कि उसे अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए और फिलिस्तीन पर बनाए गए अपने प्रस्तावों को लागू कराना चाहिए। और इतना ही नहीं तो संयुक्त राष्ट्र संघ को लंबे समय से चले आ रहे कश्मीर विवाद को भी निपटाना चाहिए ताकि दुनिया इस संस्था पर विश्वास ना खो दे।

ध्यान रहे है कि पाकिस्तान कश्मीर को जबरदस्ती विवाद बताता रहा है। जबकि ऐतिहासिक और वैधानिक तथ्यों के अनुसार जम्मू कश्मीर राज्य भारत का हिस्सा है। संयुक्त राष्ट्र ने भी कभी भी कश्मीर के भारत में विलय को कोई मुद्दा नहीं माना है। असली विषय तो पाकिस्तान द्वारा जम्मू कश्मीर राज्य पर अनाधिकृत कब्ज़ा है जिसे संयुक्त राष्ट्र ने भी माना है। इसके साथ ही पाकिस्तान हमेशा से कश्मीर मामले में मध्यस्थता की मांग करता रहा है जबकि भारत इस विवाद में किसी तीसरे पक्ष के शामिल होने के विरोध में है। हाल ही में सीमा पर युद्ध विराम के उल्लंघन और पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के चलते दोनों देशों में तनाव बढ़ा है।

संयुक्त राष्ट्र संघ  में पकिस्तान की प्रतिनिधि मलीहा लोधी पहले भी कई बार संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मसला उठाती रही हैं। बीते साल तो उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बयान का जवाब देने के लिए उन्होंने उन्होंने फलस्तीन की एक घायल युवती की तस्वीर दिखाया था। और उसे कश्मीर का सच दिखाने वाली तस्वीर बोला था। लेकिन दूसरे दिन ही जैसे ही तस्वीर का सच सामने आया तो एक बार फिर से पूरी दुनिया के सामने पाकिस्तान का असली चेहरा आ गया था।

JKN Twitter