भारत और दुनिया के दबाव में पाक ने हाफिज सईद को आतंकी घोषित किया

13 Feb 2018 15:41:49


आशुतोष मिश्रा

पाकिस्तान ने पहली बार लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उद-दावा जैसे आतंकी संगठनों पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा प्रतिबंधित आतंकी संगठनों के खातों को सील किया जाएगा। पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधी कानून में बदलाव संबंधी अध्यादेश को मंजूरी दे दी है। इसके तहत पाक सरकार को इन आतंकी संगठन के दफ्तर और बैंक खातों को बंद करना होगा। इस कारण से हाफिज सईद को बड़ा झटका लगा है। अब पाकिस्तान में उसके संगठन जमात-उद-दावा को आतंकी संगठन घोषित कर दिया गया है। जबकि कुछ दिनों पहले पाक पीएम अब्बासी ने हाफिज सईद को ‘साहेब’ कहते हुए कहा था कि उसके खिलाफ पाक में कोई केस दर्ज नहीं है इसलिए मुकदमा नहीं चलाया जा सकता।

भारत और विश्व समुदाय के दबाव में पाकिस्तान इन आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करने का दिखावा करता रहा है। लेकिन इस बार पाकिस्तानी राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधी कानून वाले अध्यादेश में संशोधन वाले प्रस्ताव को मंजूरी देने के बाद गृह, वित्त और विदेश मंत्रालय तथा काउंटर फाइनेंसिंग ऑफ टेररिज्म विंग इस मामले पर सख्त कार्रवाई करने को विवश हो जाएंगे।

कुछ दिन पहले ही पाकिस्तानी नागरिक रहमान जेब फकीर मुहम्मद, हिजाब उल्लाह अस्तम खान और दिलावर खान नाम के तीनों लोगों को अमेरिका आतंकियों की सूची में सूचीबद्ध कर दिया है। अमेरिका ट्रेजरी डिपार्टमेंट ने तीनों को लश्कर-ए-तैयबा और तालिबान जैसे आतंकी संगठनों से संबंध रखने के लिए ‘वैश्विक आतंकवादी’ करार दिया है। अमेरिका आतंकियों पर लगातार शिकंजा कस रहा है। अमेरिका पहले ही पाकिस्तान-अफगानिस्तान सीमा पर पनाह लिए हुए तालिबानी आतंकियों को लेकर पाकिस्तान को चेता चुका है। अमेरिकी उप-राष्ट्रपति माइक पेंस ने भी अपनी अफगानिस्तान यात्रा के दौरान चेतावनी दे चुके हैं।

उससे पहले पाकिस्तान की ही एक अभिनेत्री सबा आलम ने ट्वीट करके कहा था कि ‘पाकिस्तान में उनके खुद के बच्चे मक्खी-मच्छरों की तरह मारे जा रहे हैं लेकिन वे उनके लिए इंसाफ नहीं कर पा रहे जबकि हाफिज सईद पाकिस्तान में खुलेआम घूमता है। यह देखकर हम लोग बहुत लाचार महसूस करते हैं।' सबा ने एक टैलीविजन शो के दौरान अपने दर्द को बयान करते हुए कहा था कि उसे अपने पाकिस्तानी मूल के कारण कई बार अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों पर कड़ी जांच में से गुजरना पड़ता है। कई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों पर सामान्य पाकिस्तानियों के साथ भी इसी तरह के बर्ताव किए जाते है। इससे वे सभी पाकिस्तानी अपने आप को अपमानित महसूस करते हैं कि पूरी दुनिया में उनके देश को एक आतंकी राष्ट्र माना जाता हैं। 

JKN Twitter