अब चीन ने पाक को दिखाया सच

03 Feb 2018 16:23:42

 

आशुतोष मिश्रा

पाकिस्तान लगातार चीन के साथ अपनी दोस्ती को मजबूत करने में लगा हुआ है। लेकिन चीन ने 'ग्वादर एक्सपो 2018' (चीन पाक आर्थिक गलियारा,CPEC) एक्सपो में जम्मू कश्मीर राज्य को भारत का ही हिस्सा प्रदर्शित किया है। पाकिस्तान ने लगातार 1947 के बाद जम्मू कश्मीर राज्य के बड़े भू-भाग पर अवैध कब्जा कर रखा है। वह बार- बार इस पूरे क्षेत्र को अपना बताता है, जबकि संयुक्त राष्ट्र संघ सहित पूरी दुनिया सम्पूर्ण जम्मू कश्मीर राज्य को भारत का वैध हिस्सा बताया है। 

लेकिन इस बार तो पाकिस्तान के सबसे अच्छे दोस्त चीन ने भी जम्मू कश्मीर राज्य को भारत का  हिस्सा दिखाया है। पाकिस्तान सरकार के योजना और विकास मंत्रालय को पूरी दुनिया के लोगों के सामने  'ग्वादर एक्सपो 2018'  शर्मिंदा होना पड़ा है।

इस दो दिवसीय ‘ग्वादार एक्सपो’ का उद्घाटन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने किया था। इस प्रदर्शनी को संयुक्त रूप से ग्वादर पोर्ट अथॉरिटी (जीपीए) और चीन ओवरसीज पोर्ट होल्डिंग द्वारा आयोजित किया गया है। इस एक्सपो में विदेशी राजनयिकों, उद्यमियों और दुनिया भर के 5,000 से अधिक व्यापारिक प्रतिनिधियों ने भाग लिया है। इन प्रतिनिधियों में ज्यादातर चीन से आये थे।

इस बीच चीन द्वारा जारी किए गए इस आधिकारिक पोस्टर को लेकर पाकिस्तान सरकार में हड़बड़ी और डर का माहौल है। हालांकि पाकिस्तान चीन को भारत के खिलाफ सबसे बड़ा सहयोगी मानता है, लेकिन इस तथ्य के सामने आने के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि जम्मू कश्मीर राज्य के जिस क्षेत्र को पाकिस्तान विवादित क्षेत्र बताता है उसके संबंध में चीन की आधिकारिक स्थिति क्या है।

लेकिन बाद में पाकिस्तान के नेताओं और पाकिस्तानी सरकार द्वारा की गई आलोचना के बाद, आधिकारिक रूप से इस पोस्टर को बदल दिया गया और नए पोस्टर में इस क्षेत्र पर पाकिस्तान का कब्जा दिखाया गया है।

उल्लेखनीय यह है कि बलूच राजनीतिक और सशस्त्र संगठनों ने इस क्षेत्र में चीन-पाकिस्तान के गठजोड़ का विरोध किया है। वे 27 मार्च, 1948 से इस पूरे क्षेत्र को विवादित कहते हैं, क्योंकि इस दिन ही पाकिस्तान ने 'बलूचिस्तान' पर जबरन कब्जा कर लिया था। बलूचिस्तान के सबसे सक्रिय सशस्त्र संगठन ‘बलूचिस्तान लिबरेशन फ्रंट’ (बीएलएफ) ने बलूचिस्तान में निवेश करने वाले विदेशी निवेशकों को चेतावनी दी है। इस संगठन के प्रवक्ता ग्वाहराम बलूच ने कहा, "हम बलूच राष्ट्र पर अपनी इच्छा के खिलाफ लगाए गए किसी भी परियोजना को पूरा नहीं होने देगे।"

JKN Twitter