नियंत्रण रेखा पर सेना के चार जवान शहीद

05 Feb 2018 12:55:07


आशुतोष मिश्रा

पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर राज्य के राजौरी और पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर एक बार फिर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है। पाकिस्तान की तरफ से किये गए इस हमले में भारतीय सेना के कैप्टन सहित चार जवान शहीद हो गए है। जबकि दो जवान घायल हुए है, जिनका जम्मू के सैन्य चिकित्सालय में उपचार जारी है।

इस हमले में शहीद जवान गुड़गांव के रांसिका गांव निवासी कैप्टन कपिल कुंडू, ग्वालियर निवासी राइफलमैन रामअवतार, कठुआ निवासी राइफलमैन शुभम सिंह, सांबा निवासी हवलदार रोशन सिंह है। भारतीय सेना के  22 वर्षीय नवयुवक कैप्टन कपिल कुंडू का 10 फरवरी को जन्मदिन था।

पाकिस्तानी सेना ने राजौरी जिले में मंजारकोट सेक्टर के तारकुंडी और भीम्बर गली सेक्टर में गोलाबारी की है। पाकिस्तानी सेना ने पहली बार संघर्ष विराम का उल्लंघन के दौरान एंटी टैंक मिसाइल का इस्तेमाल किया है। पाक सेना की तरफ से की जा रही गोलाबारी को देखते हुए जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा से पांच किलोमीटर के दायरे में स्थित सभी 84 स्कूलों को अधिकारियों ने तीन दिनों के लिये बंद कर दिया है। 

पाकिस्तानी सेना की इस हरकत के बाद भारतीय सेना ने भी इसका करारा जवाब दियाहै। सेना की जवाबी कार्रवाई में पाक सेना को भारी नुकसान हुआ है। सूत्रों के मुताबिक पाक सेना के दर्जनभर से ज्यादा सैनिक मारे गए हैं, साथ ही पाक सेना के कई बंकरों और चौकियों को भी तबाह कर दिया गया है। दोनों पक्षों की ओर से फायरिंग अब भी जारी है।

रविवार सुबह पुंछ जिले के शाहपुर सेक्टर में पाक की गोलाबारी में दो नागरिक शाहनाज बानों, यासीन आरिफ और एक जवान घायल हो गए। पाक सेना ने नियंत्रण रेखा से लगते अग्रिम चौकियों और दो गांवों को निशाना बनाते हुए मोर्टार के गोले दागे। हालांकि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ।

इससे पहले जम्मू कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में बीती 27 जनवरी को पाकिस्तान द्वारा सीजफायर का उल्लंघन किया गया था जिसमें एक नागरिक गंभीर रूप से घायल हो गया था। 2018 में पाकिस्तान अभी तक करीब 135 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर चुका है।

JKN Twitter