कश्मीर की आतंकी फंडिंग पर NIA ने यूपी और बिहार से की गिरफ्तारी

05 Feb 2018 12:44:57


आशुतोष मिश्रा

राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी अब्दुल नईम शेख की मदद करने के आरोप में बिहार के गोपालगंज जिले के महफूज आलम नामक युवक को दिल्ली से गिरफ्तार किया है। आलम नामक इस युवक पर आतंकी अब्दुल नईम शेख को साजो-सामान, वित्तीय समर्थन और आश्रय मुहैया कराने का आरोप है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी द्वारा गिरफ्तार इस आरोपी को विशेष अदालत ने दो दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया है। 

आलम ने अपने पहचान पत्र की मदद से आतंकी नईम को वेस्टर्न यूनियन मनी ट्रांसफर से विदेशों से पैसा मँगाकर आतंकी को देता था। उस पैसे का इस्तेमाल आतंकी नईम ने भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए किया।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने पिछले साल 2017 के नवंबर में लखनऊ से महाराष्ट्र के औरंगाबाद निवासी शेख की गिरफ्तारी के बाद यह पूरा मामला सबके सामने आया था। गिरफ्तारी से पहले उसने कुछ समय दक्षिण कश्मीर में बिताए थे और कुछ सैन्य प्रतिष्ठानों की तस्वीरें ली थी। जांच के आगे बढ़ने के बाद ये सभी बाते सामने आई थी। इस मामले में यह चौथी गिरफ्तारी है। इससे पहले तीन अभियुक्तों को महाराष्ट्र के औरंगाबाद से शेख अब्दुल नईम, गोपालगंज निवासी धनु राजा और जम्मू कश्मीर के पुलवामा से तौसीफ अहमद मलिक को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

इससे पहले राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से दो हवाला ऑपरेटरों दिनेश गर्ग और आदेश कुमार जैन के यहां छापेमारी भी की। इस छापे में उनकी दुकान और घर से 15 लाख रुपये नकद, नोट गिनने वाली दो मशीनें, एक देसी पिस्तौल, कारतूस, एक लैपटॉप, चार मोबाइल फोन और विभिन्न दस्तावेज जब्त किये गये, जबकि जैन के घर और दुकान से 1 करोड़ 16 लाख रुपये, एक चाइनिज पिस्तौल, गोली, कई देशों की करेंसी, दो लैपटॉप और तीन मोबाइल फोन आदि जब्त किये गये।

इससे पहले शनिवार को कश्मीर के बारामुला में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है। इन दोनों को सेना और केंद्रीय रिजर्व सुरक्षा बल की संयुक्त दल ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए दोनों आतंकी पाकिस्तान में आतंकी ट्रेनिंग ले चुके हैं। गिरफ्तार आतंकी वाघा-अटारी बॉर्डर से भारत में आए थे। गिरफ्तार आतंकियों की पहचान मुगलपुरा सलूरा करीरी के अब्दुल माजिद भट और पालपोरा के मोहम्मद अशरफ मीर के रूप में हुई है।

JKN Twitter