जम्मू कश्मीर पर 'विवादित बयान' पर बर्खास्त वित्त मंत्री हसीब द्राबू

13 Mar 2018 15:45:07


मुकेश कुमार सिंह

 
जम्मू कश्मीर के सत्तारुढ़ पीडीपी-बीजेपी सरकार के वित्तमंत्री डा. हसीब द्राबू को दिल्ली में जम्मू कश्मीर पर दिए बयान के कारण पीडीपी ने बर्खास्त कर दिया है। इस बयान के बाद कश्मीर केन्द्रीत राजनीति करने वाले राजनीतिक दल डा. द्राबू को निशाने पर लिया है। पीपल्स डेमोक्रैटिक पार्टी ने आरोप लगाया है कि एमएलए डा. द्राबू पार्टी की विचारधारा के खिलाफ बयानबाजी की है जिसके कारण उन पर यह कार्रवाई की गई है।

बता दें कि जम्मू कश्मीर सरकार में वित्तमंत्री डा. द्राबू रविवार को दिल्ली में कहा था कि कश्मीर की समस्या एक राजनीतिक मुद्दा नहीं है, बल्कि यह एक सामाजिक मुद्दा है और इस समस्या के समाधान के लिए सामाजिक तौर तरीके अपनाना चाहिए। इस बयान को अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी विचार मानते हुए पीडीपी के उपाध्यक्ष सरताज मदनी ने द्राबू को एक नोटिस जारी करते हुए इस बारे में उनका जवाब मांगा था। डा. द्राबू ने नोटिस का जबाव शीर्ष नेतृत्व को भेज दिया। सूत्रों के मुताबिक सीएम महबूबा मुफ्ती ने पहले ही द्राबू को केबिनेट से हटाने के लिए राज्यपाल एन एन वोहरा को अपना पत्र भेज दिया था। पीडीपी उपाध्यक्ष ने कहा कि पार्टी कश्मीर समस्या को एक राजनीतिक मुद्दा मानती है और इस मुद्दे को बातचीत के माध्यम से ही हल करना चाहती है। पार्टी द्राबू के इस बयान से सहमत नहीं है।


जम्मू कश्मीर में बड़े फैसलों के लिए जाने जाते हैं डा. द्राबू

 
बता दें कि डा. हसीब द्राबू जम्मू कश्मीर में सरकार के अहम योजनाओं को लागू करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। वर्ष 2015 में जम्मू कश्मीर में बीजेपी-पीडीपी गठबंधन की सरकार बनने के बाद हसीब द्राबू को राज्य का वित्त मंत्री बनाया गया था। डा. द्राबू वर्ष 2005 से 2010 तक जम्मू कश्मीर बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रह चुके है। जम्मू कश्मीर में जीएसटी लागू कराने में हसीब द्राबू ने अहम भूमिका निभाई थी।

JKN Twitter