जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा मुठभेड़ में पांच सुरक्षाकर्मी शहीद, पांच आतंकी मारे गए

22 Mar 2018 14:03:57

 


मुकेश कुमार सिंह

जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिलें के हलमतपोरा चक के जंगलों में मंगलवार से जारी मुठभेड़ में पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए। शहीद जवानों में तीन सेना और दो जम्मू कश्मीर पुलिस के जवान थे। इस मुठभेड़ में पांच आतंकी भी मारे गए। आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान सेना के एक कमांडो व राज्य पुलिस के एक सब इंस्पेक्टर समेत चार अन्य सुरक्षाकर्मी घायल भी हुए है जबकि एक सैन्यकर्मी लापता है अभी तक अधिकारिक तौर पर लापता जवान की पुष्टि नहीं हुई है।

सूत्रों के मुताबिक लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के इस दल ने करीब आठ दिन पहले ही गुलाम कश्मीर से जम्मू कश्मीर में घुसपैठ की है। इन आतंकियों की धर-पकड़ के लिए सेना की 41 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने मंगलवार को दोपहर बाद हलमतपोरा चक के जंगल में साझा अभियान चलाया। बाद में इस अभियान में सेना के पैरा कमांडो भी शामिल हुए। हलमतपोरा के फतेहखान इलाके के जंगल में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ के दौरान शाम को आतंकी निकटवर्ती घरों में दाखिल हो गए जिसके बाद सेना ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन रोक दिया। सुरक्षाबलों ने सुबह फिर से ऑपरेशन शुरू किया और इस मुठभेड़ में पांच आतंकी को मार गिराया।

सुरक्षाबलों ने आतंकियों को उनके ठिकाने में घुसकर मारने का प्रयास किया, आतंकियों की सीधी फायरिंग रेंज में आ जाने से चार जवान गंभीर रूप से घायल हो गए, सुरक्षाकर्मियों ने घायल जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया जहां घायल सभी चार जवान शहीद हो गए, देर शाम सेना का एक और जवान शहीद हो गया। शहीद जवानों की पहचान सेना के मोहम्मद अशरफ राथर निवासी कुपवाड़ा, तीन जैक राइफस के हवलदार जोरावर सिंह, पांच बिहार रेजिमेंट के नायक रंजीत और जम्मू कश्मीर राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल के एसपीओ मोहम्मद यूसुफ चेची कुपवाड़ा और कांस्टेबल दीपक थुसू नगरोटा के रूप में हुई है।

सेना की 15वी कोर के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि ये सभी आतंकी लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े थे। सुरक्षाबलों को मारे गए आतंकियों के पास से पांच एसाल्ट राइफलें, भारी मात्रा में हथगोले, राइफल ग्रेनेड, यूबीजीएल, कारतूस, संचार उपकरण और अन्य सामान मिले हैं।

JKN Twitter