सेना ने लिया बदला

06 Mar 2018 10:58:51



आशुतोष मिश्रा

जम्मू कश्मीर राज्य में  सेना को एक बड़ी सफलता मिली है। सेना ने जैश-ए-मोहम्मद के एक बड़े आतंकवादी और दक्षिण कश्मीर के प्रमुख मुफ्ती वकास को के अवंतीपुरा में मुठभेड़ में मार गिराया है। इस आतंकी के मारे जाने से पाकिस्तान के इस आतंकी मंसूबो को बड़ा झटका लगा है।

मुफ़्ती वकास को ही पिछले महीने हुए सुंजवान आतंकी हमले का मुख्य षड्यंत्रकारी बताया जा रहा था। वकास उर्फ अबू अरसालन सुंजवान सैन्य शिविर पर 10 फरवरी को हुए आतंकी हमले के बाद सुरक्षा बलों के निशाने पर था। सेना को मिली एक गुप्त जानकारी के मिली थी कि सुंजवान  हमले का मुख्य आरोपी  जैश-ए-मोहम्मद ऑपरेशनल कमांडर मुफ़्ती वकास अवंतीपुरा के हटवार इलाके में छिपा हुआ है। इस सूचना के तुरंत बाद सेना की 50 वी राष्ट्रीय रायफल्स के जवानों ने इस पूरे इलाके को घेर वहां तलाशी अभियान शुरू कर दिया। सेना के कमांडो ने जैसे ही अवंतीपुरा में हटवार इलाके के एक घर को घेर कर अभियान शुरू किया वहा से गोलाबारी शुरू हो गई। सेना के जवानों ने तुरंत जवाबी कार्यवाही करते हुए 20 मिनट में इस अभियान को ख़त्म कर दिया। बाद में सेना ने इस घर से कई दस्तावेज एवं अन्य चीजें जब्त की गई। सेना ने के साथ हुई इस मुठभेड़ में कोई नागरिक हताहत नहीं हुआ है तथा अन्य किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ है।

 

इस अभियान में मारा गया जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर वकास जम्मू के सुंजवान सैन्य शिविर में हुए आतंकी हमले का और दक्षिण कश्मीर के लेथपुरा में सीआरपीएफ के एक शिविर पर आत्मघाती हमले का मास्टरमाइंड था।  मुफ़्ती वकास जैश का A++ कैटेगरी का आतंकी था जिसे उसके पूर्व कमांडर नूर मोहम्मद के मारे जाने के बाद प्रमोट किया गया था।

 

अधिकारियों के अनुसार 2017 में कश्मीर घाटी में घुस आया पाकिस्तानी नागरिक वकास आतंकी संगठन के आपरेशन कमांडर के तौर पर काम कर रहा था और उसने दक्षिण कश्मीर के त्राल से आत्मघाती हमलावरों को जम्मू भेजा था जहां उन्होंने 10 फरवरी को सेना के शिविर पर हमला किया था।

 

JKN Twitter