पाकिस्तान का आतंकी चेहरा फिर सब के सामने

11 Apr 2018 13:01:21

 


आशुतोष मिश्रा

पूरी दुनियां में पाकिस्तान की पहचान आतंक समर्थक देश के रूप में होती है। पाकिस्तान भी अपने इस पहचान को मजबूत करने का हर एक प्रयास करता रहता है। इस बार दुनियां के वांछित आतंकी हाफिज सईद को बचाने लिए एक बार फिर से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी कोई न कोई प्लान बनाएगी।

भारतीय गुप्तचर एजेंसी ने दावा किया है कि पाकिस्तान केवल हाफिज सईद के संगठन जमात-उद-दावा पर कार्रवाई करने का सिर्फ दिखावा कर रहा है। जबकि असलियत यह है कि आईएसआई और हाफिज सईद मिलकर भारत में आतंकवाद फैलाने की योजना पर काम कर रहे है। पाकिस्तान ने जमात-उद-दावा के लिए काम करने और कश्मीर में आतंक को बढावा देने के लिये दो नया संगठन बनाया हैं। जिसके जरिये वह भारत में आतंक फैलाने के लिए पैसा इकठ्ठा कर सके। अब तक मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI की शह पर आतंकी हाफिज सईद ने जम्मू कश्मीर मूवमेंट (JKM) और Rescue, Relief and Education Foundation (RREF) नामक दो नए समूह बनाए हैं। खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट की माने तो जम्मू कश्मीर मूवमेंट को JUD के कामों की अलग से जिम्मेदारी दी गई है, वहीं Rescue, Relief and Education Foundation नाम के इस नए संगठन को फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (FIF) से जुड़े काम को देखने की जिम्मेदारी सौपी गई है।

वर्ष 2018 के शुरुआत में ही अमेरिका ने पाकिस्तान को दिए जाने वाले सैन्य मदद रद्द करने का इशारा किया था। अमेरिका ने कहा कि आतंकवाद को लेकर हमारा नजरिया बिल्कुल साफ है। पाकिस्तान ने 15 वर्षो में आतंकवाद से लड़ने के नाम पर अमेरिका से 33 अरब डॉलर लिये। उसने कहा कि वास्तव में पाकिस्तान उसके इस सहायता राशि का इस्तेमाल आतंकवाद को बढाया देने के लिए ही किया है। अमेरिकी फौज को अफगानिस्तान में पाकिस्तान द्वारा पैदा किए इन्हीं आतंकियों से लड़ना पड़ता है।

JKN Twitter