सीपीसी के शीर्ष अधिकारी से मिले NSA डोभाल

14 Apr 2018 11:34:10

 

आशुतोष मिश्रा 

भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने चीन में सत्तारूढ़ पार्टी सीपीसी के शीर्ष अधिकारी यांग जेइची के साथ शंघाई में मुलाकात की है। बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास के अनुसार पिछले वर्ष डोकलाम गतिरोध के बाद दोनों देशों के शीर्ष अधिकारियों के बीच यह दूसरी मुलाकात है। 24 अप्रैल को भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को शंघाई सहयोग संगठन में शामिल होने बीजिंग जाना है।

चीन में सत्तारूढ़ पार्टी के पोलित ब्यूरो सदस्य यांग के साथ डोभाल की यह मुलाकात दोनों देशों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। बीते साल 73 दिन तक चले डोकलाम गतिरोध के बाद दोनों देश आपसी मतभेद को भुला अपने संबंधों को फिर से प्रगाढ़ बनाने का प्रयास कर रहे हैं। यांग चीन के विदेश मामलों के आयोग के निदेशक भी हैं। यांग पिछले महीने तक सीपीसी के स्टेट काउंसलर थे जो चीन का शीर्ष राजनयिक पद होता है।

भारत और चीन के बीच सीमा निर्धारित नहीं होने के कारण सीमा विवाद होता रहता है। सीमा निर्धारित नहीं होने का फायदा उठाते हुए चीनी सेना भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करती है। चीन भारत के इलाके में घुसकर उस पर कब्जा करने का प्रयास करता रहता है। चीनी सेना वर्ष 2013 में भारतीय क्षेत्र चुमार के इलाके में कई दिनों तक रहने के बाद वापस चली गई थी। उसके बाद भी उसकी यह हरकत जारी है। लेकिन इस साल चीनी सेना ने सर्दी के मौसम में भी लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर भारतीय इलाके में घुसने का प्रयास किया था। एलएसी पर चीनी सेना की बढती गतिविधियों को देखते हुए अब भारतीय सेना भी सीमा पर अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। लद्दाख में एलएसी के पास भारतीय सेना ने मुख्य युद्धक टैंक टी 72 और अरूणाचंल प्रदेश में ब्रह्मोस मिसाइल की तैनाती की है।

 

 

 

 

JKN Twitter