13 आतंकी मार गिराए गए

02 Apr 2018 12:28:52


आशुतोष मिश्रा

अब एक बार फिर से जम्मू कश्मीर में आतंकियों के सफाए के लिए चलाए जा रहे सबसे बड़े अभियान में सुरक्षाबलों ने तीन अलग अलग मुठभेड़ में 13 आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया। इन मुठभेड़ो में लेफ्टिनेंट उमर फैयाज़ की हत्या में शामिल रहे आतंकी इशफाक मलिक और रियाज़ ठोकर को भी मार गिराया हैं। इसके अलावा सेना ने एक आतंकी को जिंदा भी पकड़ा है। आतंकियों के मारे जाने के बाद अलगाववादियों ने सोमवार को जम्मू कश्मीर में बंद का ऐलान किया है। सुरक्षा के मद्देनजर इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सेना के 3 जवान भी शहीद हो गए हैं।

आतंकियों के साथ हुई इन मुठभेड़ो दौरान सेना के उपर स्थानीय लोगों ने पथराव भी किया। इस हिंसक झड़प में 2 स्थानीय लोगों की मौत के साथ 80 से ज्यादा घायल हो गए हैं। पूरी घाटी में तनाव का माहौल है ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था खराब न हो इसके लिए रेल सेवा और इंटरनेट सेवा स्थगित कर दी गई।

सेना के द्वारा की गई कार्रवाई के बाद आतंकियों के किसी भी हमले से निपटने के लिए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। सेना द्वारा किए गए मुठभेड़ के विरोध में अलगाववादियों ने 2 दिन के बंद का आह्वान किया है। डीजीपी डा. एसपी वैद ने ट्वीट कर 13 आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि सोमवार सुबह से एक बार फिर से सर्च आॅपरेशन चलाया जाएगा।

सुरक्षा बलों को सूचना मिली थी की शोपियां और अनंतनाग में आतंकियों ने पनाह लिया हुआ है, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने देर रात सर्च आॅपरेशन शुरू किया। रात को करीब 1 बजे शोपियां जिले के द्रागड़ व कचदूरा और अनंतनाग के दियालगम इलाके में घर-घर तलाशी ली जाने लगी। तलाशी के दौरान आतंकियों की तरफ से फायरिंग शुरू कर दी गई और भागने का प्रयास किया गया लेकिन सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए शोपियां में 13 आतंकी मार गिराए गए। इसके साथ ही अनंतनाग के दियालगम में मुठभेड़ में जुबैर तुर्रे को मार गिराया गया। उसके साथ मौजूद एक अन्य आतंकी इमरान अहमद को गिरफ्तार कर लिया गया है।

JKN Twitter