सेना पर फिर हुई पत्थरबाजी

24 Apr 2018 13:41:55


Ashutosh Mishra

दक्षिणी कश्मीर के शोपियां जिले में सोमवार को पत्थरबाज युवाओं ने सेना की गाड़ियों पर भारी पथराव किया।  शोपियां जिले के पिंजोरा गांव से सेना की कुछ गाड़ियां गुजर रही थी कि अचानक स्थानीय युवक सड़कों पर उतर आए और पत्थरबाजी शुरू कर दी। इसकी चपेट में एक गाड़ी आ गई। अपने आपको घिरता देख सेना के जवानों ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए हवाई फायरिंग की।

इसके अलावा पुलवामा जिले के मुरन गांव में भी स्थानीय लोगों ने सेना के जवानों पर पत्थरबाजी की। स्थानीय लोगों के अनुसार सेना के जवान पिछले कुछ दिनों से लगातार इलाके में आकर युवाओं से पूछताछ कर रहे थे। वे अपने आपको सर्वे टीम से जुड़ा बताते थे। सोमवार को जब एक टीम इलाके में पहुंची तो युवाओं ने उन्हें घेर लिया और उन पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। इसमें एक जवान को मामूली चोट भी लगी। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सेना का तो सर्वे से संबंधित कोई काम नहीं है। युवाओं को गलतफहमी हुई होगी।

घाटी में पहली बार तैनात हुई केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की महिला जवान

जम्मू कश्मीर राज्य की घाटी में कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए प्रशासन ने पहली बार केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की महिला जवानों को तैनात किया है। महिला जवानों के तैनाती के पीछे घाटी में अलगावादीयों द्वारा हिंसक प्रदर्शनों के दौरान महिलाओं को आगे कर सुरक्षाबलों पर किये जाने वाले हमलों का त्वरित जवाब देने के लिए महिला जवानों की तैनाती की गई। घाटी में सबसे पहले इन महिला जवानों को मौलाना आजाद रोड पर महिला कॉलेज के सामने रीगल चौक में तैनात किया गया है। स्थानीय लोग पथराव और हिंसा से निपटने के लिए आवश्यक साजो सामान से लैस महिला कर्मियों को देखकर हैरान है।

कश्मीर में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की महिला जवानों की एक बटालियन कई वर्षो से घाटी में तैनात है। इनको अभी तक केवल एयरपोर्ट समेत राज्य व केंद्र सरकार के महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों और कार्यालयों में आने जाने वाली महिलाओं की निगरानी और तलाशी की जिम्मेदारी दी जाती थी।

JKN Twitter