सेनाध्यक्ष विपिन रावत की पत्थरबाज युवकों  को सख्त चेतावनी

10 May 2018 16:55:08


मुकेश कुमार सिंह

सेनाध्यक्ष जनरल विपिन रावत ने जम्मू कश्मीर में पत्थरबाजी में शामिल युवाओं को सख्त चेतावनी दी है। उन्होंने सेना पर पत्थरबाजी करने वाले युवाओं को स्पस्ट शब्दों में कड़े संदेश देते हुए कहा कि आजादी भूल जाओ। गौरतलब है कि सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ के दौरान ये पत्थरबाज सेना पर पथराव करते है और आतंकियों को बच निकलने में सहयोग करते है।

सेना प्रमुख ने अंग्रेजी दैनिक इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि अगर उन्हें लगता है कि हम उनके लिए लड़ेंगे जो अलग होकर आजादी पाना चाहते हैं तो ऐसा कभी नहीं होगा। उन्होंने कहा कि वे भारतीय सेना से लड़ नहीं सकते हैं और इस तरह से उन्हें आजादी नहीं मिल सकती है। पिछले महीनों से सेना आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑल आउट चला रखा है। जिसके तहत सेना ने जम्मू कश्मीर में बड़ी संख्या में आतंकियों को मार गिराया है। सेनाध्यक्ष ने कहा कि कश्मीर में कितने आतंकी मारे गए इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

सेना प्रमुख ने कहा कि भारतीय सेना सीरिया और पाकिस्तान की सेना की तरह क्रूर नहीं है जो अपने नागरिकों पर टैंक और हवाई हमले करती है। भारतीय सेना अपने नागरिकों को बगैर नुकसान पहुंचाए समस्याओं से निपटने की सर्वोत्तम प्रयास करती है। उन्होंने कहा कि मुझे पता है कि युवा गुस्से में हैं। लेकिन सुरक्षाबलों पर हमला करना, हमारे ऊपर पत्थर फेंकना इसका हल नहीं है। उन्होंने विरोध प्रदर्शन करने वाले पत्थरबाजों पर सवाल उठाते हुए कहा कि यदि वे लोग सेना की कार्रवाई से आतंकवादियों को मारे जाने से बचाना चाहते है तो उन्हें आतंकियों से आत्मसमर्पण के लिए आग्रह करना चाहिए।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही पत्थरबाजी में सुरक्षाबल का एक जवान शहीद हो गया था। पत्थरबाजों ने घाटी में ही एक स्कूल बस पर पथराव किया था जिसमें कई स्कूली बच्चें घायल हो गए थे। दो दिन पहले ही पर्यटकों के वाहन पर पत्थरबाजों हमला किया जिसमें चेन्नई निवासी पर्यटक आर थिरुमनी की मौत हो गई थी।

JKN Twitter