रमजान में नहीं चलेगा सेना का ‘ऑपरेशन ऑलआउट’

17 May 2018 13:51:26

 


 

 

केंद्र सरकार ने रमजान के दौरान जम्मू कश्मीर राज्य में सेना द्वारा चलाये जा रहे ‘ऑपरेशन ऑलआउट’ को बंद करने का फैसला किया है। गृह मंत्रालय ने इसके लिए ‘सशर्त’ मंजूरी दे दी है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सुरक्षाबलों को निर्देश दिए है कि रमजान के महीने में जम्मू कश्मीर में किसी तरह के अभियान नहीं करेगी, लेकिन किसी भी हमले का जवाब देने के लिए स्वतन्त्र है।

गृह मंत्रालय ने इसके बारे में जम्मू कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती को भी जानकारी दी है। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि यदि इस दौरान आतंकियों ने हमला किया तो उसको सुरक्षाबलों की ओर से माकूल जवाब दिया जाएगा। जम्मू कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने रमजान के दौरान ऑपरेशन न चलाने के लिए केंद्र से अनुरोध किया था।

बता दें कि सेना ने अपने ‘ऑपरेशन ऑलआउट’ के दौरान दक्षिण कश्मीर में पिछले महीने में 13 आतंकवादी मारे थे। इस दौरान A+ कैटगरी के आतंकियों को भी मारा गया है। इस ऑपरेशन से भारतीय सुरक्षाबलों ने जम्मू कश्मीर में आतंकियों की कमर तोड़ दी है।

आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने जम्‍मू-कश्‍मीर में रमजान के दौरान केंद्र सरकार के ‘ऑपरेशन ऑलआउट’ सीजफायर के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है। एक बयान में लश्कर-ए-तैयबा के सरगना महमूद शाह ने कहा कि संघर्ष-विराम कोई विकल्प नहीं है। अपने बयान में शाह ने केंद्र सरकार के फैसले को सिर्फ ड्रामा करार दिया है और कहा कि लश्कर रमजान के दौरान भी सुरक्षाबलों पर हमले जारी रखेगा।’

सोशल मीडिया पर लोगों ने किया विरोध

केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने रमजान के महीने में ‘ऑपरेशन ऑलआउट’ रोकने पर गृह मंत्रालय की आलोचना की है। कुछ लोगों ने तो यहां तक कहा कि वह बीजेपी के समर्थक है, लेकिन इस फैसले का समर्थन नहीं करते है। लोगों ने ये भी कहा कि सरकार के इस फैसले से साफ है कि अब सरकार ने स्वीकार किया है कि आतंक का धर्म होता है।

JKN Twitter