गांदरबल में विद्युत विभाग के खिलाफ प्रदर्शन जारी

22 May 2018 14:49:42

 


आशुतोष मिश्रा

मीडिया हमेशा से कश्मीर घाटी में आतंकी के जनाजे को तो दिखा देती है, लेकिन जब वहां की जनता अपने अधिकारों को लेकर कोई मांग करती है तो उन्हें कभी भी नहीं दिखाया जाता है।  गांदरबल जिले के गागनगीर क्षेत्र के स्थानीय लोगों द्वारा लगतार तीसरे दिन विद्युत विभाग के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी रहा। प्रदर्शन कर रहे लोगों के अनुसार विद्युत विभाग रमजान के पवित्र महीने में सुचारू रूप से बिजली देने में विफल रहा है। विद्युत विभाग के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए लोगों ने विभाग के खिलाफ नारेबाजी कर श्रीनगर-लेह हाइवे को भी जाम कर दिया। प्रदर्शनकारियों द्वारा राजमार्ग अवरूद्ध करने से मार्ग के दोनों ओर वाहनों की लम्बी-लम्बी कतारें लग गई। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कहा कि पीडीडी विभाग द्वारा आश्वासन देने के बाद भी रमजान के पवित्र महीने में उन्हें बिजली आपूर्ति सुचारू रूप से नहीं मिल पा रही है।

बेरोजगार युवाओं के लिए नौकरियों के अवसर बनाना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकताः वीरी

ग्रामीण विकास मंत्री अब्दुल रहमान वीरी ने राज्य की कंपनियों द्वारा चयनित किए गए सत्तर छात्रों को प्लेसमेंट सर्टिफिकेट वितरित करते हुए कहा कि राज्य के प्रत्येक बेरोजगार युवा के लिए नौकरी का अवसर बनाना हमारी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इन छात्रों ने दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना (डीडीयू-जीकेवाई) के तहत अपना कौशल प्रशिक्षण पूरा किया है।

वीरी ने कहा कि राज्य सरकार युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए सभी संभावित मार्गो का दोहन करने के लिए प्रतिबद्ध है। मंत्री ने कहा कि शिक्षित युवाओं को आगे आना चाहिए और सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं और कार्यक्रमों का लाभ उठाया जाना चाहिए खासतौर पर बेरोजगार युवा सरकार प्रायोजित योजनाओं जैसे पीएमईजीपी, सीएमईजीपी, उदान और कई समान लाभ उठा सकते है।

डीडीयू-जीकेवाई के प्रमुख पहलुओं को उजागर करते हुए सीओओ हिमायत कपिल शर्मा ने मंत्री को सूचित किया कि योजना का उद्देश्य उन युवाओं में कौशल विकसित करना है जो गरीब हैं और नियमित रूप से मासिक मजदूरी करते हो, उन्हें रोजगार प्रदान करने में सहायक हो सके। यह ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार की पहल के समूहों में से एक है जो ग्रामीण आजीविका को बढ़ावा देना चाहता है।

JKN Twitter