गिलगित-बाल्टिस्तान पर पाक का है अवैध कब्जा

28 May 2018 13:11:02


आशुतोष मिश्रा

पाकिस्तान की ओर से गिलगित-बाल्टिस्तान को लेकर दिए गए आदेश पर भारत ने पाक के उप-उच्चायुक्त को तलब कर जताई आपत्ति, विदेश मंत्रालय ने कहा, गिलगित-बाल्टिस्तान समेत पूरा जम्मू-कश्मीर राज्य भारत का अभिन्न हिस्सा।

भारत के विदेश मंत्रालय ने पाक के उप-उच्चायुक्त बताया है कि 1947 में महाराज हरी सिंह द्वारा विलय पत्र हस्ताक्षर करने के बाद से ही  गिलगिट-बाल्टिस्तान समेत पूरा जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है। पाकिस्तान गिलगिट बाल्टिस्तान में परिवर्तन ना करते हुए भारतीय क्षेत्र में अपने अवैध कब्जे को तुरंत तत्काल खाली करे।

मंत्रालय ने कहा कि हमने पाकिस्तान के उप-उच्चायुक्त को यह भी बता दिया है कि ऐसा कोई भी कदम पाक की ओर से अवैध रूप से कब्जाए गए जम्मू-कश्मीर के किसी भी हिस्से में उनकी ज्यादतियों को नहीं छिपा सकेगा। उसने इन इलाकों में मानवाधिकारों का हनन, उत्पीड़न और लोगों की आजादी खत्म की है। स्टेटस बदलकर पाकिस्तान हकीकत को छिपा नहीं सकता है।

इससे पहले 21 मई को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी ने गिलगित-बाल्टिस्तान पर आदेश जारी कर स्थानीय प्रशासन से अधिकारों को वापस लेते हुए पाक सरकार के हाथों में अधिक ताकत सौंपने की बात कही थी। इस फैसले को सरकार की ओर से गिलगित-बाल्टिस्तान को पांचवां प्रांत बनाने की दिशा में अहम कदम माना जा रहा है।

गिलगिट-बाल्टिस्तान का स्टेटस बदलने के आदेश को लेकर पेशावर में लोग सड़क पर उतर आए। इस दौरान पुलिस हुई झड़पों में कुछ लोग घायल हो गए। शनिवार को गिलगिट-बाल्टिस्तान विधानसभा की ओर बढ़ रहे प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे और हवाई फायरिंग भी की। दलगत राजनीति से हटकर नेताओं ने गिलगिट-बाल्टिस्तान को संवैधानिक अधिकार की मांग के साथ प्रांत में कई जगह प्रदर्शन किए।

RELATED ARTICLES
JKN Twitter