अलगाववादी नेता अपने बच्चों को पढ़ा रहे और कश्मीरी बच्चों को आतंकी बना रहे ।

28 May 2018 13:25:56

 


आशुतोष मिश्रा

 

समा शब्बीर शाह ने सीबीएसई के तहत 12वीं की वार्षिक बोर्ड परीक्षा में 97.8 फीसदी  अंक हासिल कर जम्मू कश्मीर में पहला स्थान प्राप्त कर सभी को चौंका दिया है। श्रीनगर के अथवाजन स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल की छात्रा समा शब्बीर के पिता कश्मीर के  अलगाववादी नेता शब्बीर शाह हैं। कश्मीर का दिल्ली पब्लिक स्कूल वही स्कूल है जहाँ पर सितम्बर में आतंकवादी हमला हुआ था इस हमले में सुरक्षा बल के दो जवान शहीद हुए थे।   

अलगाववादी नेता शब्बीर शाह जम्मू कश्मीर डेमोक्रेटिक फ्रीडम पार्टी  के अध्यक्ष हैं जो  इस समय दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं।  प्रवर्तन निदेशालय  ने पिछले साल सितंबर में शाह को घाटी में अशांति फैलाने के लिए आतंकवाद के वित्तपोषण के कथित मामले में गिरफ्तार किया था। क्योकि प्रवर्तन निदेशालय के ज़रिए बार-बार बुलाए जाने के बावजूद भी वो हाज़िर नहीं हुए, जिसके बाद दिल्ली की एक अदालत ने उनके ख़़िलाफ़ ग़ैर-ज़मानती वारंट जारी किया।

जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शमा की सफलता पर बधाई दी और कहा कि 'वह वाकई में हमारे राज्य के युवाओं के लिए एक प्रेरणा हैं।'  महबूबा ने ट्विटर पर कहा , '12 वीं कक्षा की परीक्षा में 97.8  प्रतिशत अंक लाने के लिए शमा शब्बीर शाह को बधाई। उसकी कड़ी मेहनत और दृढ़ निश्चय ने उसकी सभी विपरीत परीस्थितियों से निकलने में मदद की और वह हमारे राज्य के युवाओं के लिए वाकई में एक प्रेरणा हैं।' 

कश्मीर के अलगावादी  नेता घाटी के सामान्य बच्चों को तो लगातार इस्लाम के नाम पर आतंकवाद के रास्ते पर भेजने का काम कर रहे है। वो ऐसे बच्चो के हाथों में पत्थर दे कर सुरक्षा बलों पर पथराव करवा रहे है। घाटी के सभी अलगावादी नेता के बच्चे देश और विदेश में पढ़ा कर कर उन्हें तो बचाते है जबकि दूसरो के बच्चों को मरवा रहे है।       

JKN Twitter